Sunday, 1 August, 2010

आज फ्रैंडशिप डे ...बधाई

आज 1अगस्त को ‘फ्रेण्डशिप-डे‘ है। चलिए, आज इसके बारे में बताती हूँ। पूरी दुनिया में अगस्त माह का प्रथम रविवार फ्रेंडशिप डे के रूप में मनाया जाता है. इसके इतिहास में जाएँ तो अमेरिकी कांग्रेस द्वारा 1935 में अगस्त माह के प्रथम रविवार को दोस्तों के सम्मान में ‘राष्ट्रीय मित्रता दिवस‘ के रूप में मनाने का फैसला लिया गया था। इस अहम दिन की शुरूआत का उद्देश्य प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान उपजी कटुता को खत्म कर सबके साथ मैत्रीपूर्ण भाव कायम करना था। पर कालान्तर में यह सर्वव्यापक होता चला गया। दोस्ती का दायरा समाज और राष्ट्रों के बीच ज्यादा से ज्यादा बढ़े, इसके मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बकायदा 1997 में लोकप्रिय कार्टून कैरेक्टर विन्नी और पूह को पूरी दुनिया के लिए दोस्ती के राजदूत के रूप में पेश किया।

इस दिन तो फ्रेण्डशिप कार्ड, क्यूट गिफ्ट्स और फ्रेण्डशिप बैण्ड देकर आप दोस्तों को बधाई दे सकते हैं या नई दोस्ती की शुरुआत कर सकते हैं. पर एक बात सदैव याद रखना कि सच्चा दोस्त वही होता है जो अपने दोस्त का सही मायनों में विश्वासपात्र होता है। अगर आप सच्चे दोस्त बनना चाहते हैं तो अपने दोस्त की तमाम छोटी-बड़ी, अच्छी-बुरी बातों को उसके साथ तो शेयर करो लेकिन लोगों के सामने उसकी कमजोरी या कमी का बखान कभी न करो। नही तो आपके दोस्त का विश्वास उठ जाएगा क्योंकि दोस्ती की सबसे पहली शर्त होती है विश्वास। हाँ, एक बात और। उन पुराने दोस्तों को विश करना न भूलें जो हमारे दिलों के तो करीब हैं, पर रहते दूरियों पर हैं।

23 comments:

Dr. Brajesh Swaroop said...

सच्चा दोस्त वही होता है जो अपने दोस्त का सही मायनों में विश्वासपात्र होता है। अगर आप सच्चे दोस्त बनना चाहते हैं तो अपने दोस्त की तमाम छोटी-बड़ी, अच्छी-बुरी बातों को उसके साथ तो शेयर करो लेकिन लोगों के सामने उसकी कमजोरी या कमी का बखान कभी न करो....दोस्ती दिवस मुबारक हो

Dr. Brajesh Swaroop said...

Friendship Day ke bare men achhi jankari mili..abhar.

Amit Kumar Yadav said...

फ्रैंडशिप-डे के अवसर पर बहुत-बहुत बधाइयाँ।

Bhanwar Singh said...

सच्चा दोस्त जीवन की अमूल्य निधि होता है...फ्रैंडशिप-डे के अवसर पर बहुत-बहुत बधाइयाँ।

Shahroz said...

मित्रता एक अहम रिश्ता.
मित्रता - दिवस के अवसर पर अच्छी प्रस्तुति ..बधाई.

Ram Shiv Murti Yadav said...

मित्रता-दिवस काफी भाया। मित्रता के इस रंग में सराबोर होने के लिए शुभकामनायें.

रावेंद्रकुमार रवि said...

बच्चों की दुनिया में भर गया दोस्ती का प्यार!
आओ, मुस्काराएँ हम सब मिलकर बार-बार!

raghav said...

मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनायें. अच्छे-अच्छे दोस्त बनाना.

KK Yadav said...

मित्रता दिवस की सभी को हार्दिक शुभकामनाएं. मित्रों की इस अलबेली दुनिया में आप सभी को सफलता और समृद्धि हमेशा मिलती रहे, मित्रों का कारवां बढ़ता रहे...यही कामना है.

KK Yadav said...

मित्रता दिवस की शुरुआत और इसके विभिन्न पहलुओं पर पर एक रोचक व ज्ञानवर्धक पोस्ट..बधाई.

प्रवीण पाण्डेय said...

आपको भी ढेर बधाई।

M VERMA said...

मित्रता दिवस पर बधाई और शुभकामनाएँ

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

अच्छी जानकारी मिली....मित्रता दिवस की शुभकामनायें

Akhilesh pal blog said...

bahoot achhi hai aap ki baal doniya mere blog par aakar tipani dene ke liye danya vaad

vandan gupta said...

बहुत ही बढिया जानकारी दी है…………आभार्।
कल (2/8/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर अवगत कराइयेगा।
http://charchamanch.blogspot.com

आपका अख्तर खान अकेला said...

bhn ji veri good jaankaari bhut khub bdhaayi ho blogrs frend ship day bhi honaa haahiye taaki blogrs ki ktutaa shityuddh khtm ho. akhtar khan akela kota rajthan

देवेन्द्र पाण्डेय said...

..अमेरिकी कांग्रेस द्वारा 1935 में अगस्त माह के प्रथम रविवार को दोस्तों के सम्मान में ‘राष्ट्रीय मित्रता दिवस‘ के रूप में मनाने का फैसला लिया गया था। इस अहम दिन की शुरूआत का उद्देश्य प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान उपजी कटुता को खत्म कर सबके साथ मैत्रीपूर्ण भाव कायम करना था। पर कालान्तर में यह सर्वव्यापक होता चला गया। दोस्ती का दायरा समाज और राष्ट्रों के बीच ज्यादा से ज्यादा बढ़े, इसके मद्देनजर संयुक्त राष्ट्र संघ ने बकायदा 1997 में लोकप्रिय कार्टून कैरेक्टर विन्नी और पूह को पूरी दुनिया के लिए दोस्ती के राजदूत के रूप में पेश किया।
..जानकारी देने के लिए आभार.

मनोज कुमार said...

02.08.10 की चिट्ठा चर्चा में शामिल करने के लिए इसका लिंक लिया है।
http://chitthacharcha.blogspot.com/

Udan Tashtari said...

मित्र दिवस की बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

खबरों की दुनियाँ said...

यूं तो मित्रता किसी एक दिन की मोहताज नहीं ,हर पल मित्रता के लिए हो तो भी कम है । ज्ञानवर्धक लेख के लिए धन्यवाद । इस अवसर पर आपको भी बहुत - बहुत बधाइयाँ - शुभकामनाएँ । - आशुतोष मिश्र

Akanksha Yadav said...

आप सभी की सरहना के लिए आभार. अपना स्नेह यूँ ही बनाये रहें...

Akanksha Yadav said...

@ मनोज कुमार जी,

चर्चा के लिए आभार...अपना स्नेह यूँ ही बनाये रहें...

Unknown said...

मित्रता दिवस पर सुन्दर सौगात.. देर से बधाई.